बस अब एक पल जीना हे मुझे…….

बस अब एक पल जीना हे मुझे,

इन खुले आसमान में उड़ना हे मुझे,
इन बादलो के बिच घूमना हे मुझे;
तारो के साथ बाते करनी हे,
चाँद से उसकी चांदनी चुरानी हे।

बस अब एक पल…..

अब आगे पढना नहीं,
अब यहाँ रहना नहीं;
परियो की दुनिया में जाना हे मुझे,
कुछ दिन वहाँ भी रहना हे मुझे।

बस अब एक पल…..

पंछियो से शरारत करनी हे,
प्रकृति में राते काटनी हे;
शेतानो से मिलाना हे,
बस उसे बदलना हे।

अब एक पल रहना…..

Writer: My little sister,

Padmaja Dave,

Insta @ 7107padmaja

Editor: Its me 🙂

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s